Monthly Archives: August 2018

इश्क एक इबादत

इश्क के सागर मे डूबती आंखें

नाचता मन मयूर

लहराते हसीन ख्वाब

इश्क का नहीं कोई हिजाब।

इश्क चलता है अंगारों पर

घर, समाज की दुधारी तलवारों पर

इश्क की इबादत पर पहरे कठोर

बन जाते हैं संकीर्ण मन सिरमौर।

इश्क नहीं बंध सकता सीमाओं में

इश्क की रुह इठलाती कलियों में

इश्क की लहरें छूती नभ की तारिकाएं

इश्क की सुंगध को फैलाती हवाएँ।

इश्क तन के बंधन से कोसों दूर

ये वो मंजर है जहाँ खुशबूएं भरपूर

इश्क आंखों की भाषा

इश्क अन्तरमन की परिभाषा।

इश्क एक रुमानी रिश्ता

इश्क हर डगर एक फरिश्ता

इश्क की गहरी उंचाई

इश्क जीवन की सच्चाई।

इश्क इठलाती नदी

इश्क बलखाती सदी

इश्क मेघों की वर्षा

इश्क कठोर तपस्या।

इश्क भवरें की गुंजन

इश्क महकता उपवन

इश्क मधुर संगीत

इश्क जीवन की रीत।

इश्क तपती रेत

इश्क लहलहाते खेत

इश्क सकून की छांव

इश्क चंचल नाव।

इश्क चटकती कलियाँ

इश्क उड़तीं तितलियां

इश्क खुदा की इबादत

इश्क हंसी दिलों की विरासत।

Advertisements